H AD

Bappi Lahiri death ने ली आखिरी साँस और कह गए दुनिया को अलविदा बप्पी लहरी

दोस्तों आज बहुत ही दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि बॉलीवुड के महान संगीतकार गायक बप्पी लहरी का देहांत हो गया है | लता मंगेशकर जी के बाद यह फिर से बॉलीवुड में दुखो का बदल घिरे है बॉलीवुड में तरह-तरह के गायक देखने को मिले हैं हर गायक का अपना अलग ही तरीका होता है लेकिन कई बार भी गायकों में से एक कोई गायक अपना एक ऐसा स्थान बना लेता है जो वाकई बातों से थोड़ा अलग होता है | Bappi Lahiri ने ली आखिरी सास और कह गए दुनिया को अलविदा बप्पी लहरी Bappi Lahiri death

Bappi-Lahiri-death-&-hits-song.webp

ऐसे ही गायकों में से एक है बप्पी दा यानी कि बॉलीवुड के पहले रॉक स्टार बप्पी लहरी बप्पी लहरी में बॉलीवुड में गीतों को पॉप का तड़का लगाया और दर्शको को एक अलग श्वाद मिला | भारतीय दर्शकों को एक नया स्वाद मिला भारतीय संगीत जगत में एक वक्त ऐसा था जब बप्पी लहरी का नाम आते ही लोगों के जहन में बप्पी लहरी झूमते हुए गाने और बेहतरीन म्यूजिक ढूंढा था | आज कि इस पोस्ट में बप्पी लहरी के बारे में बताया गया है |

Bappi Lahari का जन्म और बॉलीवुड का सफरनामा

बप्पी लहरी की एक और खासियत उनकी गहने है गले में सोने की चैन और भारी भारी अंगूठियां पहले बप्पी लहरी को देखने वाले सोने की दुकान तक कहा करते थे | पर सच तो यह है कि बप्पी लहरी को सोने से बेहद लगाव है और वह सोने को अपने लिए काफी लकी भी मानते हैं 27 नवंबर 1952 को बप्पी लहरी का जन्म कोलकाता में हुआ था | वह संगीत घराने से ताल्लुक रखते हैं उनके पिता अपरेस लहरी एक प्रसिद्ध बंगाली गायक थे और उनकी माता बांसुरी लहरी भी बंगला संगीतकार थी | Bappi Lahiri death

बप्पी लहरी अपने माता-पिता की आखिरी संतान थे और बचपन से ही बप्पी लहरी फेमस होने के सपने देखा करते थे | और 3 साल की उम्र में तबला सीखने के साथ उन्होंने संगीत की शिक्षा लेनी शुरू की संगीतकार किशोर कुमार और एस मुखर्जी उनके संबंधी थे उन्होंने संगीत अपने माता-पिता से ही सीखी और 19 साल की उम्र में पहली बार बंगाली फिल्म दादुर में गाना गाने का मौका मिला | Bappi Lahiri के पर्सनालिटी की बात करें तो उनका स्टाइल अलग है महंगी और सोने के गहने पहने वाली बप्पी हमेशा रॉकस्टार लुक में नजर आते रहे हैं उनकी बातचीत का भी ढंग बिल्कुल अलग है उनके पहनावे में ज्यादातर फ्रॉक सूट या फिर कुर्ता पाजामा होता था |

इसके साथ ही बप्पी लहरी अपनी धूप के चश्मे को गर्मी हो या सर्दी कभी नहीं छोड़ते हैं बप्पी लहरी 19 साल की उम्र में ही बॉलीवुड में नाम कमाने के लिए मुंबई चले गए थे | साल 1973 में उन्हें हिंदी फिल्म नन्हा शिकारी में गाना गाने का मौका मिल गया हलाकि उन्हें बॉलीवुड में असली पहचान 1973 कि फिल्म जख्मी से मिली | इस फिल्म में उन्हें मुहम्मद रफी और किशोर कुमार जैसी महान गायकों के साथ भी गाने गाए इसके बाद तो बप्पी लहरी का गाना सभी के जुबान पर छाने लगा फिर आया एक और दोर और बप्पी लहरी और मिथुन चक्रवर्ती की जोड़ी को लोगों ने बहुत पसंद करना शुरू कर दिया |

इन दोनों की जोड़ी ऐसी धूम मचाई कि सब डांस और डिस्को म्यूजिक के दीवाने हो गए उन्होंने मिलकर डांस डांस और डिस्को डांसर जैसी फिल्मो में सुपरहिट गाने दिए | हिंदी सिनेमा में बिना हिंदी की छेड़छाड़ किए बप्पी दा ने बेहतरीन संगीत बनाई और इसके अलावा उन्होंने एल्बम्स में अशोक कुमार और आशा भोंसले की आवाज का बखूबी इस्तेमाल किया | उन्होंने इसके बाद आगे बढ़ने पर भी जोर दिया 90 के दशक में बप्पी दा आप फिल्मो से पूरी तरह से अलग होकर अपनी एल्बम पर काम करना शुरू कर दिया था |

Bappi Lahari death ली आखिरी साँस

अचानक म्यूजिक के बादशाह बप्पी लहरी की मौत की खबर सबको छोड़ कर चले जाने की बात सबको हैरान कर दी | कि इतनी हेल्थी हैप्पी और हमेशा जौली मूड में दिखने वाले बप्पी दा को हुआ तो हुआ क्या लोगों को इस खबर पर यकीन नहीं हो रहा था कि अपना इतना ख्याल रखने वाले बप्पी दा का निधन आखिर कैसे हो गया पता नहीं | उनकी बीमारी से जुड़ी बाते कोई कहा जा रहा है कि बप्पी दा ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया नाम की बीमारी से झुझ रहे थे हालांकि बहुत से लोग सोच रहे होंगे कि यह क्या बीमारी है और कैसे शरीर को कैसे इतना होन्ग कर सकती है कि किसी की मौत हो जाए | यह एक एसी बीमारी है जिस व्यक्ति को यह बीमारी हो जाये उसको सोते समय साँस कुछ समय के लिए रूक जाये तो उस व्यक्ति कि मौत हो जाती है |

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इस वजह से बप्पी लहरी 29 दिनों से अस्पताल में एडमिट है उनकी तबीयत में सुधार आ रहा था जिसके बाद उन्हें 15 फरवरी को अस्पताल से छुट्टी मिल गई | हालांकि उनकी तबियत फिर से बिगड़ गयी जिनको जुहू के कृति केयर हास्पिटल में भर्ती किया गया | भर्ती करने के बाद रात 11:45 पर दम तो दिया | लता मंगेशकर जी के बाद अब बप्पी लहरी भी दुनिया से कह गए अलविदा | Bappi Lahiri death

Bappi Lahiri के हिट्स गाने hits song

बप्पी लहरी ने 90 दशक के सबसे सुपर हिट्स गाने दिए जिसे लोग आज भी पसंद करते है बप्पी दा का कुछ गाने में नीचे दिया गया है

  • यार बिना चैन कहा रे
  • यार आ रहा है तेरा प्यार
  • रात बाकी बात बाकी
  • तम्मा तम्मा लोगे
  • बम्बई से आया मेरा दोस्त
  • ओह ला ला तू है मेरी फेन्ससी
  • तूने मारी इन्तेर्रिया

ऐसे ही गायकों में से एक है बप्पी दा यानी कि बॉलीवुड के पहले रॉक स्टार बप्पी लहरी बप्पी लहरी में बॉलीवुड में गीतों को पॉप का तड़का लगाने वाले बप्पी दा को भावपूर्वक श्रध्दांजलि भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और परिवार वालो को इस दुःख से उबरने कि शक्ति प्रदान करे | Bappi Lahiri

Read mare…..Lata Mangeshkar लता मंगेशकर ने ली आखिरी साँस दुनिया को कह गयी अलविदा

Ram Autar
Ram Autarhttps://techsarp.com
मेरा नाम राम अवतार है | मेरी उम्र 22 वर्ष है | मै एक प्राइवेट टीचर हू | और यूट्यूब व ब्लॉग बेवसाइट पर सन 2015 से काम करता रहता हूँ | 5 साल की एक्सपीरियंस के साथ कुछ बेहतर करने का प्रयास करता हूं | इसके अलावा मुझे फिल्में देखना और शॉर्ट फिल्में बनाना बहुत पसंद है | साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय है | मेरे पास एक जन सेवा केंद्र शॉप भी है जिस पर मैं लोगों को ऑनलाइन कार्य का सेवा प्रदान करता हूं |

Related Articles

Stay Connected

3,502फॉलोवरफॉलो करें
0सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -

Latest Articles