Lata Mangeshkar लता मंगेशकर ने ली आखिरी साँस दुनिया को कह गयी अलविदा

Lata Mangeshkar लता मंगेशकर ने दुनिया को कह गयी अलविदा

Lata Mangeshkar लता मंगेशकर -लता मंगेशकर का निधन कब हुआ मने ली आखिरी साँस 92 वर्ष में ही दुनिया को कह गयी अलविदा दोस्तों यह बताते ही बहुत ही दुःख हो रहा है कि बहुत ही सुरीली गाना गाने स्वरों कि मलिका लता मंगेशकर जी का निधन आज रविवार 11:35 बजे हो गया है | परमात्मा उनकी आत्मा को शांति दे और परिवार वालो को इस दुःख से उबरने की शक्ति प्रदान करे-

Lata Mangeshkarलता मंगेशकर ने ली आखिरी साँस वह बहुत ही दिनों से बीमार चल रही थी आज 06 फरवरी को 11:35 बजे मुम्बई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में उनका निधन हो गया | लता मंगेशकर जी का जन्म 28 सितम्बर 1929 में जिला इंदौर में हुआ था लता मंगेशकर जी भारत कि सबसे लोकप्रिय गायिका थी जिन्होंने अनेक भाषाओ में गाना को गाया है -लता मंगेशकर के गाने

लेकिन लता जी भारतीय सिनेमा के हिंदी गानों के पार्श्वगायिका के रूप में ही रही | इनको अन्य नामो से भी जाना जाता है लोग इन्हे स्वरों कि देवी स्वर कोकिला के नाम से भी जानते है इनके माता-शिवंती मंगेशकर और पिता-दीनानाथ मंगेशकर था |

PM प्रधानमंत्री ने लता मंगेशकर जी को दिया राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई

Lata Mangeshkar अंतिम विदाई :- लता मंगेशकर का निधन कब हुआ लता मंगेशकर जी का अंतिम संस्कार मुंबई के शिवाजी पार्क में किया गया लता मंगेशकर जी का अंतिम विदाई राजकीय सम्मान के साथ किया गया उनके अंतिम यात्रा में हिंदी जगत के सितारे ही नहीं बल्कि PM प्रधानमंत्री और खेल जगत के सितारे भी शोकाकुल अंतिम संस्कार में उपस्थित हुए | लता मंगेशकर एक प्यार का नग़मा है

लता मंगेशकर अपने पुरे जीवन काल में 20 से अधिक भाषाओ में 30000 से अधिक गाने गयी उनको बहुत बार फिल्मफेयर आवार्ड दे सम्मानित भी क्या गया इनको भारतरत्न से भी सम्मानित किया गया | अपने स्वरों से सबके मन जीत लेने वाली स्वर कोकिला ने दुनिया में अपना एक अलग ही छाप छोड़ गयी वह आज इस दुनिया में नहीं है लेकिन उनके गए हुए गानों को सुनकर लोग के दिलो में आज भी जिन्दा होने का यह्सास दिलायेगा |

लता मंगेशकर के गाने लता मंगेशकर जी ने अपने पुरे जीवन काल में तीस हजार से अधिक गाना गयी थी सबसे पुराने गायिको में से लता मंगेशकर जी सबसे सुरीली गाने वाली गायिका थी इन संगीतकरो के साथ लता ने अनेक यादगार गीत गाये जिनकी लोकप्रियता की कोई सीमा नहीं रही लता जी के आवाज का जादू आम जन के जुबान पर चढ़ गया लता जी देखते ही देखते बहुत ही मशहूर गायिका बन गयी | उस समय कि बहुत सारी फिल्मे इस लिए सफल रही क्यों कि लता जी के गाने बहुत ही लोकप्रिय हो चुके थे इस वजह से फिल्मो में चार चाद लग रहे थे उस समय के फिल्म निर्देशक व निर्माता और संगीतकारों कि पहली पसंद बन गयी |

लता मंगेशकर का पहला गाना

लता मंगेशकर का पहला गाना लता मंगेशकर जी देशभक्ति गाने, भक्ति गाने, रोमांटिक गाने, और भजन गीत प्रमुख गाने थे वह देवदास ,आजाद, अमरदीप, कबीरा, मदर इण्डिया, बीस साल बाद, चोरी चोरी, बागी जैसी सुपर हिट फिल्मो में अपने स्वरों का जादू बिखेरा और उनके मधुर नगमो से सारे दर्शक खुस हुए | लता मंगेशकर के गाने –

लता मंगेशकर को भारत सरकार द्वारा राष्टीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित

लता मंगेशकर जी अपने जीवन काल में अनेको आवार्ड से सम्मानित किया गया सन 1972 में पद्म भूषण आवार्ड से सम्मानित किया गया और सन 1989 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया तथा सन 1999 में पद्म विभूषण आवार्ड से सम्मानित किया गया सन 2001 में भारत रत्न आवार्ड से सम्मानित किया गया |

स्वर कोकिला | परमात्मा उनकी आत्मा को शांति दे और परिवार वालो को इस दुःख से उबरने की शक्ति प्रदान करे- धन्यवाद !

Read more… Bollywood फ़िल्मी सफरनामा

Ram Autarhttps://techsarp.com
मेरा नाम राम अवतार है | मेरी उम्र 22 वर्ष है | मै एक प्राइवेट टीचर हू | और यूट्यूब व ब्लॉग बेवसाइट पर सन 2015 से काम करता रहता हूँ | 5 साल की एक्सपीरियंस के साथ कुछ बेहतर करने का प्रयास करता हूं | इसके अलावा मुझे फिल्में देखना और शॉर्ट फिल्में बनाना बहुत पसंद है | साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय है | मेरे पास एक जन सेवा केंद्र शॉप भी है जिस पर मैं लोगों को ऑनलाइन कार्य का सेवा प्रदान करता हूं |

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Exit mobile version